Oppo F11 Pro का रिव्यू

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
Oppo F11 Pro का रिव्यू

Oppo F11 Pro Review: ओप्पो एफ11 प्रो में है पॉप-अप सेल्फी कैमरा

ख़ास बातें
  • Oppo F11 Pro पॉप-अप सेल्फी कैमरे के साथ आता है
  • ओप्पो एफ11 प्रो की कीमत 24,990 रुपये है
  • ओप्पो एफ11 प्रो में 6.53 इंच का फुल-एचडी+ एलसीडी डिस्प्ले है
बेज़ल-लेस स्मार्टफोन को बनाने की कोशिश में हैंडसेट निर्माता कंपनियां तीन अलग-अलग ढंग से सेल्फी कैमरे की जगह को उपयुक्त स्थान पर सेट कर रही हैं। इन दिनों मार्केट में नॉच, पंच होल डिस्प्ले और पॉप-अप मॉड्यूल वाले स्मार्टफोन उपलब्ध हैं। मार्केट में नॉच वाले स्मार्टफोन तो आपको कई मिल जाएंगे लेकिन पंच-होल और पॉप-अप डिजाइन वाले स्मार्टफोन धीरे-धीरे मार्केट में अपनी पकड़ को मजबूत बना रहे हैं। हैंडसेट निर्माता कंपनी Oppo का लेटेस्ट स्मार्टफोन Oppo F11 Pro पॉप-अप सेल्फी कैमरा के साथ आता है जिसकी कीमत मार्केट में मौजूदा अन्य पॉप-अप सेल्फी कैमरे वाले स्मार्टफोन जैसे कि Vivo Nex और Oppo Find X से कम है। आइए जानते हैं कि Oppo F11 Pro स्मार्टफोन खरीदना फायदे का सौदा है या नहीं?
 

Oppo F11 Pro का डिजाइन

ओप्पो ने कुछ बेहतर डिजाइन वाले स्मार्टफोन मार्केट में उतारे हैं और अब कंपनी अपने ज्यादातर मॉडल में ग्रेडिएंट फिनिश का इस्तेमाल कर रही है। Oppo F11 Pro को ऑरोरा ग्रीन और थंडर ब्लैक रंग में लॉन्च किया गया है और हमारे पास इसका थंडर ब्लैक वेरिएंट उपलब्ध है। फोन का बैक पैनल एक तरफ से डार्क ब्लू रंग का है तो दूसरी तरफ पर्पल रंग का और इनके बीच में ब्लैक रंग का इस्तेमाल किया गया है। यह हमें Oppo Find X की याद दिलाता है जिसमें इसी तरह के ग्रेडिएंट फिनिश का इस्तेमाल हुआ था। डिवाइस के फ्रंट में केवल डिस्प्ले है जिसके ऊपर और साइड में पतले बॉर्डर हैं तो वहीं इसका निचला हिस्सा थोड़ा मोटा है।

ओप्पो एफ11 प्रो की डिस्प्ले की बात करें तो इसमें 6.53 इंच का फुल-एचडी+ एलसीडी डिस्प्ले है। यह 90.90 प्रतिशत स्क्रीन टू बॉडी रेशियो से लैस है। फोन के फ्रंट पैनल पर नॉच को जगह नहीं मिली है और डिवाइस में ऊपर की तरफ मोटराइज्ड पॉप-अप सेल्फी कैमरा दिया गया है। यह मॉड्यूल फेस रिकग्निशन में भी आपकी सहायता करेगा। यह एक मोटराइज्ड मॉड्यूल है तो हम इसे लेकर आश्वस्त नहीं है कि लॉन्ग टर्म में यह कितना विश्वसनीय है। डिवाइस गिरने पर इसके मैकेनिज्म को क्षति भी पहुंच सकती है। स्मार्टफोन में सेकेंडरी माइक्रोफोन और ऊपर की तरफ एंबियंट लाइट सेंसर भी दिया गया है।

डिस्प्ले के ठीक ऊपर ईयरपीस को जगह मिली है जो कि फ्रेम और डिस्प्ले के बीच स्थित है। ईयरपीस के बायीं तरफ प्रॉक्सिमिटी सेंसर है जिसे सफाई से छिपाया गया है। डिस्प्ले पर पहले से स्क्रीन प्रोटेक्टर लगा हुआ है। रिटेल बॉक्स में आपको प्रोटेक्टिव केस भी मिलेगा जो पॉप-अप सेल्फी कैमरे के साथ सही ढंग से काम करता है। फोन के निचले हिस्से में माइक्रो-यूएसबी पोर्ट है जो कि आपको थोड़ा निराश कर सकता है क्योंकि Nokia 5.1 Plus (रिव्यू) और Samsung Galaxy M20 (रिव्यू) जैसे बजट स्मार्टफोन यूएसबी टाइप-सी पोर्ट के साथ आते हैं।
 
OppoF11Pro Display

माइक्रो-यूएसबी पोर्ट के साथ 3.5 मिलीमीटर ऑडियो जैक, माइक्रोफोन होल और लाउडस्पीकर ग्रिल को जगह मिली है। ऐसा प्रतीत होता है कि Oppo F11 Pro का फ्रेम प्लास्टिक का बना है लेकिन यह बिल्कुल भी हल्का नहीं है। पावर बटन फोन के दाहिनी तरफ तो वहीं वॉल्यूम बटन फोन के बायीं तरफ स्थित है। यह उपयुक्त स्थान पर स्थित हैं इसी वजह से इन्हें आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। हाइब्रिड डुअल-सिम ट्रे को पावर बटन के ठीक ऊपर जगह मिली है। फोन के पिछले हिस्से में दो रियर कैमरे दिए गए हैं। कैपेसिटिव फिंगरप्रिंट सेंसर को ठीक रियर कैमरे के नीचे जगह मिली है।

Oppo F11 Pro के किनारे घुमावदार हैं जिस वजह से इन्हें हाथ में आराम से पकड़ा जा सकता है। इसका वजन 191 ग्राम है यानी यह फोन औसत से थोड़ा अधिक वज़नदार है। रिटेल बॉक्स में आपको ईयरफोन के साथ 20 वाट का VOOC फास्ट चार्जर मिलेगा जिसकी मदद से आप 4,000 एमएएच बैटरी को जल्दी चार्ज कर पाएंगे।
 

Oppo F11 Pro स्पेसिफिकेशन, सॉफ्टवेयर और फीचर्स

25,000 रुपये के सेगमेंट में आने वाले अन्य स्मार्टफोन की तुलना में ओप्पो एफ11 प्रो थोड़ा अलग फोन है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह इस प्राइस सेगमेंट में पॉप-अप सेल्फी कैमरे के साथ आता है। फोन का हार्डवेयर अच्छा तो है लेकिन अद्भुत नहीं है। इसमें ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर दिया गया है जो चार कॉर्टेक्स-ए73 कोर और चार कॉर्टेक्स-ए53 कोर के साथ आता है। स्मार्टफोन 6 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज के साथ आएगा।

गौर करने वाली बात यह है कि ओप्पो एफ11 प्रो के साथ कंपनी ने Oppo F11 स्मार्टफोन को भी लॉन्च किया था जो 128 जीबी स्टोरेज के साथ आता है। आप चाहें तो दूसरी सिम के बजाय माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से स्टोरेज को बढ़ा भी सकते हैं। Oppo के इस हैंडसेट में 6.53 इंच का फुल-एचडी+ (1080x2340 पिक्सल) एलसीडी डिस्प्ले है। स्क्रीन क्रिस्प है और इसका व्यूइंग एंगल भी काफी अच्छा है। आप अपनी पंसद अनुसार डिस्प्ले के कलर आउटपुट को बदल भी सकते हैं। Oppo F11 Pro के कनेक्टिविटी फीचर में 4जी एलटीई, वाई-फाई 802.11एसी, ब्लूटूथ 4.2, जीपीएस/ ए-जीपीएस शामिल हैं।
 
OppoF11Pro Pop up

Oppo F11 Pro स्मार्टफोन एंड्रॉयड 9.0 पाई पर आधारित कलरओएस 6.0 पर चलता है। यह एक महत्त्वपूर्ण बदलाव है जो आपको इस फोन में देखने को मिलेगा क्योंकि कुछ मॉडल एंड्रॉयड ओरियो पर आधारित पुराने कलरओएस वर्जन के साथ आते हैं। नया यूआई काफी सिंपल है यानी इसमें ब्लोटवेयर नहीं है। नोटिफिकेशन शेड को नीचे की ओर खिंचे इसके बाद आपको बड़े साइड वाले टॉगल बटन दिखाई देंगे जिनकी पहचान करना काफी आसान है। स्क्रीन ब्राइटनेस स्लाइडर नीचे की तरफ मौजूद है इसका मतलब अगर फोन को एक हाथ से इस्तेमाल किया जाए तो इसे आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। वॉल्यूम बटन पर क्लिक करने के बाद आपको स्क्रीन पर बड़ा स्लाइडर दिखाई देगा।

Oppo ने यूआई नेविगेशन में कुछ बदलाव भी किए हैं। आप चाहें तो तीन-बटन नेविगेशन लेआउट या टू-बटन नेविगेशन सिस्टम को चुन सकते हैं जो कि गूगल पिक्सल 3 (Google Pixel 3) सीरीज़ में स्टॉक एंड्रॉयड 9 से मिलता जुलता है। ओप्पो एफ11 प्रो स्मार्टफोन में आपको Oppo का ऐप स्टोर, थीम स्टोर, म्यूज़िक पार्टी और ओरोमिंग के साथ Facebook, यूसी ब्राउजर, PayTM, विंक म्यूज़िक, डेलीहंट, Webnovel, न्यूज़प्वाइंट, Amazon शॉपिंग और शेयरचैट जैसे ऐप प्री-इंस्टॉल मिलेंगे। इसके अलावा हॉट ऐप्स और हॉट गेम्स ऐप भी है जिन्हें पहली नज़र में देखने में यह फॉल्डर जैसे लगते हैं लेकिन दरअसल यह ओप्पो ऐप स्टोर का ही हिस्सा हैं। गूगल ऐप्स भी प्री-इंस्टॉल मिलेंगे। डिवाइस में ब्लोटवेयर बहुत हैं लेकिन इनमें से ज्यादातर को अनइंस्टॉल किया जा सकता है।
 
OppoF11Pro Camera

पुराने ओप्पो स्मार्टफोन की तरह इसमें भी आपको स्मार्ट ड्राइविंग मोड मिलेगा जो कार के ब्लूटूथ से कनेक्ट होने के बाद खुद-ब-खुद ऑन हो जाता है। राइडिंग मोड एक नया फीचर है जिसे जोड़ा गया है, यह इनकमिंग कॉल को छोड़कर सभी चीजों को म्यूट कर देता है। फोन में जेस्चर भी उपलब्ध हैं, आप स्क्रीन पर अक्षर बनाकर भी ऐप को खोल सकते हैं। ओप्पो ने सेटिंग ऐप में अलग पावर सेविंग मोड्स को डाला है, यह ऐप्स को बैकग्राउंड में व्यर्थ में चलने से रोकते हैं।
इसके अलावा सुपर हाई पावर एफिशिएंसी मोड भी है जो कुछ बैकग्राउंड ऐप्स को बंद कर देता है, ऑटोमैटिक डेटा sync को डिसेबल कर देता है, वाइब्रेशन को बंद कर देता है और स्क्रीन ब्राइटनेस को कम कर देता है। जिस वक्त फोन का इस्तेमाल नहीं हो रहा हो ऐसी स्थिति में स्लीपिंग मोड फोन की बैटरी को गिराने से बचाता है।
 
OppoF11Pro Cover

गेम स्पेस को एक नया लुक मिला है, यह एक ऐसी जगह है जहां आपको स्मार्टफोन में इंस्टॉल सभी गेम्स दिखाई देंगी। यह ऐप रैम को क्लियर कर आपकी गेम परफॉर्मेंस को ऑप्टिमाइज़ कर देता है। आप चाहें तो गेमिंग के दौरान बैनर नोटिफिकेशन और कॉल को ब्लॉक भी कर सकते हैं। इसके तीन मोड्स हैं- हाई परफॉर्मेंस, बैलेंसड और लो पावर कंजप्शन। बता दें कि ओप्पो गेम इंज़न PUBG Mobile के साथ कंपैटिबल है। आप चाहें तो एक साथ दो व्हाट्सऐप और फेसबुक को भी डिवाइस में चला सकते हैं। आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि हमारा रिव्यू यूनिट फरवरी 2019 सिक्योरिटी पैच भी चल रहा है।
 

Oppo F11 Pro की परफॉर्मेंस, बैटरी लाइफ और कैमरा

हमने रियलमी यू1 में हीलियो पी70 प्रोसेसर और रियलमी 3 (रिव्यू) को टेस्ट किया है। लेकिन Oppo F11 Pro की कीमत इन दोनों मॉडल की तुलना में अधिक है और जब बात परफॉर्मेंस की आती है तो इनमें बड़ा अंतर भी नहीं है। मल्टीटास्किंग के दौरान फोन बिल्कुल भी धीमा नहीं होता। फोन में दी गई 6 जीबी रैम मल्टीपल ऐप्स में स्विच करते समय मददगार साबित होती है। हर बार जब भी आप फेस रिकग्निशन की मदद से फोन को अनलॉक करते हैं तो कैमरा मॉड्यूल पॉप-अप होता है। हमारे अनुभव में सेल्फी कैमरा एक सेकेंड से भी कम समय में स्लाइड आउट होकर फेस को स्कैन करने के बाद स्लाइड बैक हो जाता है।

फेस अनलॉक के लिए दो विकल्प हैं, पहला जब आप पावर बटन पर क्लिक करेंगे और दूसरा जब आप लॉक स्क्रीन को स्वाइप-अप करेंगे। इसके अलावा फोन अंधेरे में स्क्रीन ब्राइटनेस को बढ़ा देता है जिससे यह चेहरे की आसानी से पहचान कर लेता है। Oppo F11 Pro का फिंगरप्रिंट सेंसर काफी तेज है और यह तेजी से फोन को अनलॉक कर देता है।
 
oppo
oppo
oppo
oppo

परफॉर्मेंस को मापने के लिए हमने PUBG Mobile और Asphalt 9: Legends को खेलकर देखा। PUBG Mobile के लिए सेटिंग मीडिया पर बाय डिफॉल्ट सेट है। ग्राफिक्स बैलेंस्ड और फ्रेम रेट मीडिया पर सेट है। फोन को इस सेटिंग पर सेट करने के बाद आप बिना किसी परेशानी के आसानी से गेम को खेल सकते हैं। Asphalt 9 को हमने डिफॉल्ट सेटिंग पर प्ले किया लेकिन हमने पाया कि फोन बीच में थोड़ा धीमा हुआ था। लाउडस्पीकर से आवाज़ भी काफी तेज आती है, आप गेमिंग और वीडियो को एंजॉय कर पाएंगे।

फोन में जान फूंकने के लिए 4,000 एमएएच की बैटरी दी गई है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में फोन ने 20 घंटे का बैकअप प्रदान किया जो कि काफी प्रभावशाली है। फोन की प्रयोग की बात करें तो हमारा व्हाट्सऐप अकाउंट हर समय एक्टिव रहा, PUBG Mobile और Asphalt 9 Legends को आधे घंटे तक खेलने के बाद, कुछ बेंचमार्क चलाने के बाद, गूगल मैप्स की मदद से दो घंटे तक नेविगेट करने के बाद और कुछ तस्वीरें क्लिक करने के बाद भी दिन के अंत तक फोन में 46 प्रतिशत बैटरी शेष थी। बता दें कि हमने फोन को सभी पावर-सेविंग मोड को ऑफ करने के बाद इस्तेमाल किया था। आप इन्हें ऐनबल कर बेहतर बैटरी लाइफ पा सकते हैं। PUBG Mobile में तकरीबन 11 मिनट के दो क्विक मैच खेलने के बाद हमने पाया कि बैटरी केवल 3 प्रतिशत कम हुई थी।
oppo
oppo

रिटेल बॉक्स में 20 वाट का VOOC चार्जर है जो 4,000 एमएएच बैटरी को तेजी से चार्ज कर देता है। वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बैटरी पूरी खत्म होने के बाद हमने फोन को चार्ज पर लगाया। F11 Pro की बैटरी 30 मिनट में 46 प्रतिशत तक चार्ज हो गई थी और तकरीबन 1 घंटे 45 मिनट में फोन पूरा चार्ज हो गया था। हमने देखा कि 80 प्रतिशत चार्ज होने के बाद चार्जिंग स्पीड धीरे हो गई थी।

याद करा दें कि Oppo F11 Pro के 48 मेगापिक्सल के प्राइमरी कैमरे को काफी विज्ञापित किया गया था। इसका अपर्चर एफ/ 1.79 है, इसके साथ 5 मेगापिक्सल का सेकेंडरी सेंसर काम करेगा। ओप्पो का कैमरा सॉफ्टवेयर काफी सिंपल है और मोड सिलेक्टर स्क्रीन के नीचे स्थित है और क्विक टॉगल ऊपर दिए गए हैं। फोटो, वीडियो और पोर्टेट मोड को आसानी से एक्सेस किया जा सकता है तो वहीं पैनो, एक्सपर्ट, टाइम लैप्स, स्लो-मो और नाइटस्केप मोड आपको सब-मेन्यू में मिलेंगे। बता दें कि नया क्रोमा बूस्ट फीचर क्विक टॉगल के साथ आता है।

कैमरा ऐप में एआई सीन रिकग्निशन बाय डिफॉल्ट स्विच ऑन रहेगा। फोन में ब्यूटीफिकेशन फीचर भी उपलब्ध है और आप अपनी इच्छा अनुसार ब्यूटीफिकेशन लेवल को चेंज कर सकते है या तो बंद भी कर सकते हैं। इसमें 48 मेगापिक्सल का प्राइमरी रियर कैमरा है लेकिन यह बाय डिफॉल्ट 12 मेगापिक्सल पर शॉट को कैप्चर करता है। अगर आप फुल रिजॉल्यूशन पर स्विच करेंगे तो आप क्रोमा बूस्ट, एचडीआर, फिल्टर्स, ब्यूटीफिकेशन, एआई सीन रिकग्निशन, कंटीन्यूअस शूटिंग और ज़ूमिंग जैसे फीचर्स को मिस कर देंगे।

शूटिंग के दौरान फोन तेजी से फोकस लॉक कर देता है। दिन की रोशनी में ली गई तस्वीरें क्रिस्प आईं और इनमें डिटेल भी पर्याप्त मात्रा में मौजूद थीं। एआई सीन रिकग्निशन तेजी से इस बात को डिटेक्ट कर लेता है कि हम क्या शूट कर रहे हैं और कैमरा ऐप को उस तरह से सेट कर देता है। लाइट के प्रतिकूल शूटिंग करते समय कैमरा एचडीआर को खुद-ब-खुद ऐनबल कर देता है। मैक्रोज़ मोड में शूट करते समय कलर भी सटीक रहते हैं। पोर्टेट मोड सेकेंडरी सेंसर की मदद से सब्जेक्ट और बैकग्राउंड के बीच के अंतर को बनाए रखता है और बोकेह इफेक्ट को एड कर देता है। हालांकि, ब्लर लेवल को एडजस्ट करने के लिए कस्टमाइजेशन उपलब्ध नहीं है।

रात में ली गई तस्वीरों में नॉयस कम रहता है यही वजह है कि आउटपुट में ग्रेन नज़र नहीं आते हैं। फोन पर्याप्त मात्रा में डिटेल को कैप्चर करता है, लेकिन हमने पाया कि Oppo F11 Pro रात में फोकस को लॉक करने में थोड़ा ज्यादा समय लेता है। कम रोशनी में नाइटस्केप मोड काम का फीचर साबित होता है। यह लंबे एक्सपोज़र के साथ तस्वीरें लेता है। क्रोमा बूस्ट फोटो की डायनामिक रेंज़ को इंप्रूव करता है। हमने नोटिस किया कि यह कलर को थोड़ा बूस्ट भी करता है।

16 मेगापिक्सल पॉप-अप सेल्फी कैमरे से ली गई तस्वीरें में कलर सटीक आते हैं और यह डिटेल को सही ढंग से कैप्चर करता है। लाइट के प्रतिकूल शूट करते समय हमने पाया कि कई बार F11 Pro बैकग्राउंट को ओवर एक्सपोज कर देता है। प्राइमरी और सेल्फी कैमरा 1080पी पर वीडियो रिकॉर्डिंग करने में सक्षम है, यह आपको थोड़ी निराश जरूर करेगा क्योंकि इस प्राइस सेगमेंट में आने वाले अन्य स्मार्टफोन 4के वीडियो रिकॉर्डिंग सपोर्ट के साथ आते हैं। बता दें कि डिवाइस में इमेज़ स्टेबलाइजे़शन उपलब्ध है।
 

हमारा फैसला

पॉप-अप सेल्फी कैमरा होने की वजह से Oppo F11 Pro के फ्रंट पैनल पर केवल डिस्प्ले है, जो फोन का मॉर्डन लुक देती है। जी हां, इसमें मूविंग मैकेनिज्म है जिस वजह से गिरने से इसे क्षति पहुचं सकती है या इसमें धूल जमा हो सकती है। फोन की बैटरी लाइफ काफी प्रभावशाली है और VOOC फास्ट चार्जर फोन की बैटरी को तेजी से चार्ज करने में सक्षम है। पॉप-अप सेल्फी कैमरा और बेहतर बैटरी लाइफ के अलावा Oppo F11 Pro में ऐसा कुछ भी खास नहीं है जो इसे दूसरों से अलग बनाए। डिवाइस को फायदे का सौदा बनाने के मकसद से कंपनी ने फोन में 128 जीबी स्टोरेज दी है।

Realme U1 (रिव्यू) में भी इसी प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है जिसकी शुरुआती कीमत 10,999 रुपये है। Xiaomi का Redmi Note 7 Pro (रिव्यू) में बेहतर प्रोसेसर है लेकिन बैटरी लाइफ एक सामान है और इसकी कीमत 14,990 रुपये है। इसके अलावा इस प्राइस रेंज़ में Poco F1 और Asus ZenFone 5Z भी उपलब्ध हैं, दोनों ही स्मार्टफोन एक बेहतरीन विकल्प हैं। अगर पॉप-अप सेल्फी कैमरा आपके लिए ज्यादा जरूरी नहीं है तो इसके अलावा और भी कई विकल्प मौजूद हैं।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी
डिस्प्ले6.53 इंच
फ्रंट कैमरा16-मेगापिक्सल
रियर कैमरा48-मेगापिक्सल + 5-मेगापिक्सल
रैम6 जीबी
स्टोरेज64 जीबी
बैटरी क्षमता4000 एमएएच
ओएसएंड्रॉ़यड 9
रिज़ॉल्यूशन1080x2340 पिक्सल
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

 
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2019. All rights reserved.