Motorola One Macro का रिव्यू

Motorola One Macro Review in Hindi: क्या मोटोरोला वन मैक्रो एक अच्छा स्मार्टफोन है? यह जानने के लिए हमने इसे टेस्ट किया है, आइए जानते हैं...

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
Motorola One Macro का रिव्यू

Motorola One Macro Review in Hindi: मोटोरोला वन मैक्रो का रिव्यू

ख़ास बातें
  • मोटोरोला वन मैक्रो एंड्रॉयड 9.0 पाई पर चलेगा
  • मोटोरोला वन मैक्रो में यूएसबी टाइप-सी पोर्ट है
  • Motorola One Macro में 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज है
Lenovo के स्वामित्व वाली कंपनी Motorola ने भारतीय मार्केट में पिछले कुछ समय में अपने कई नए स्मार्टफोन लॉन्च किए हैं और Motorola One Macro इन्हीं में से एक है। याद करा दें कि मोटोरोला वन सीरीज़ को इस साल के शुरुआत में भारत में पेश किया गया था। कंपनी ने सबसे पहले Motorola One Power (रिव्यू), Motorola One Vision (रिव्यू) और फिर Motorola One Action को इस सीरीज़ के अंतर्गत उतारा है।

ये सभी अन्य मॉडल Google के एंड्रॉयड वन प्रोग्राम का हिस्सा हैं और इन्हें नियमित रूप से प्रमुख एंड्रॉयड ओएस अपडेट और सिक्योरिटी अपडेट मिलते रहने की गारंटी है। हालांकि, Motorola One Macro एंड्रॉयड वन स्मार्टफोन नहीं है। 10,000 रुपये से कम के बजट में इस स्मार्टफोन की अहम खासियत हैंडसेट में दिया मैक्रो कैमरा सेंसर है। क्या मोटोरोला वन मैक्रो एक अच्छा स्मार्टफोन है? यह जानने के लिए हमने इसे टेस्ट किया है, आइए जानते हैं...

    

Motorola One Macro का डिज़ाइन

मोटोरोला वन मैक्रो का डिज़ाइन हाल ही में लॉन्च किए गए Motorola One Vision और Motorola One Action के समान है। हालांकि, यह 21: 9 आस्पेक्ट रेशियो वाले डिस्प्ले के साथ नहीं आता है। Motorola One Macro में 6.2 इंच का एचडी+ (720x1520 पिक्सल) डिस्प्ले और 19:9 आस्पेक्ट रेशियो है।

मोटोरोला वन मैक्रो के चारों और बेज़ल हैं और निचले हिस्से में बॉर्डर मिलेगा। फोन वॉटरड्रॉप नॉच के साथ आता है और सेल्फी कैमरा को नॉच में जगह मिली है। डिस्प्ले को ज्यादा जगह मिल सके इस वज़ह से मोटोरोला ने ईयरपीस को फ्रेम में प्लेस किया है। Motorola ने सभी बटन को फोन के दाहिनी ओर प्लेस किया है।
 
Motorola

पावर बटन पर थोड़ा अलग फिनिश है, बता दें कि डिवाइस के बायीं ओर हाइब्रिड डुअल-सिम ट्रे है। मोटोरोला वन मैक्रो के ऊपरी हिस्से में 3.5 मिलीमीटर हेडफोन जैक और सेकेंडरी माइक्रोफोन और फोन के निचले हिस्से में प्राइमरी माइक्रोफोन, यूएसबी टाइप-सी पोर्ट और स्पीकर है। Motorola One Macro के पिछले हिस्से में तीन रियर कैमरे दिए गए हैं।

एक सेंसर सबसे ऊपर प्लेस किया गया है बता दें कि यह मैक्रो सेंसर है और यही फोन की खासियत है। अन्य कैमरा सेंसर लेज़र ऑटोफोकस एमिटर के साथ नीचे दिए कैमरा मॉड्यूल में प्लेस किए गए हैं। फोन के पिछले हिस्से में फिंगरप्रिंट सेंसर भी मिलेगा जिसे सही ढंग से प्लेस किया गया है। बैक पैनल पर दिए मोटोरोला के आइकॉनिक बैटविंग लोगो में सेंसर को जगह मिली है।

Motorola ब्रांड के इस फोन का बैक पैनल ग्लॉसी प्लास्टिक से बना है, इसपर उंगलियों के निशान आसानी से पड़ जाते हैं। कंपनी ने रिटेल बॉक्स में इस समस्या से बचने के लिए एक केस भी दिया है। हमने पाया कि Samsung Galaxy M30s (रिव्यू) की तुलना में मोटोरोला वन मैक्रो थोड़ा वज़नदार लगा। मोटोरोला ने रिटेल बॉक्स में 10 वॉट का चार्जर दिया है।
 

Motorola One Macro specifications और सॉफ्टवेयर

मोटोरोला ने वन मैक्रो में एचडी+ डिस्प्ले दिया है लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि इस प्राइस सेगमेंट के आसपास मिलने वाले अधिकांश स्मार्टफोन फुल-एचडी+ डिस्प्ले के साथ आते हैं। यह पैनल 270 पिक्सल प्रति इंच प्रदान करता है जो आइडल नहीं है। Motorola One Macro में कंपनी ने ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर का इस्तेमाल किया है।

ग्राफिक्स के लिए इसमें माली-जी 72 जीपीयू है जिसकी स्पीड 900mHz है। मोटोरोला वन मैक्रो में 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज है, हाइब्रिड सिम स्लॉट का इस्तेमाल कर स्टोरेज को बढ़ाना संभव है। Motorola वन मैक्रो का केवल एक ही कलर वेरिएंट है, स्पेस ब्लू। Motorola One Macro Price in India की बात करें तो इसकी कीमत 9,999 रुपये तय की गई है।
 
Motorola

स्मार्टफोन में जान फूंकने के लिए 4,000 एमएएच की बैटरी दी गई है। मोटोरोला वन मैक्रो के बारे में वाटर रेपलेंट डिज़ाइन होने का दावा किया गया है। इसे IPX2 रेटिंग मिली है। हैंडसेट डुअल 4जी वीओएलटीई, ब्लूटूथ 4.2 और 6 नेविगेशन सिस्टम सपोर्ट के साथ आता है। सॉफ्टवेयर की बात करें तो स्मार्टफोन सितंबर सिक्योरिटी पैच के साथ स्टॉक एंड्रॉयड 9 पाई पर चलता है।

हैरानी की बात यह है कि Motorola One Macro एंड्रॉयड वन प्रोग्राम का हिस्सा नहीं है। मोटोरोला ने गैजेट्स 360 को बताया है कि डिवाइस को एक प्रमुख ओएस अपडेट, यानी  Android 10 और दो साल तक सिक्योरिटी अपडेट मिलेगा। याद करा दें कि एंड्रॉयड वन फोन को दो साल तक सॉफ्टवेयर अपडेट और तीन साल तक सिक्योरिटी अपडेट मिलता है।

यूआई कस्टम आइकन पैक के साथ स्टॉक एंड्रॉयड की तरह ही है। आपको हैंडसेट में ऐप ड्रावर मिलता है और होम स्क्रीन से दाहिनी ओर स्वाइप करने पर Google असिस्टेंट खुल जाता है। डिवाइस में मोटो और डिवाइस हेल्प ऐप के साथ कुछ ही गूगल ऐप्स इंस्टॉल हैं।
 
Motorola

मोटोरोला ने जेस्चर नेविगेशन में भी बदलाव किया है और आपको एंड्रॉयड 10 स्टाइल नेविगेशन मिलेगा। हमें डिवाइस में नेविगेटिंग और मल्टीटास्किंग के दौरान कोई परेशानी नहीं हुई। एंड्रॉयड पाई का डिजिटल वेलबिंग फीचर और पैरेंटल कंट्रोल भी बिल्ट-इन है।
 

Motorola One Macro की परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ

हमने पहले Realme 3 (रिव्यू) की टेस्टिंग के दौरान मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर को टेस्ट किया था। इस डिवाइस में 4 जीबी रैम है इसलिए हमें ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगा कि फोन धीमा हुआ। मल्टीपल ऐप्स के बीच मल्टीटास्किंग के दौरान फोन आसानी से मैनेज कर लेता है। फिंगरप्रिंट सेंसर और फेस अनलॉक फीचर तेजी से फोन को अनलॉक करता है।

मोटोरोला वन मैक्रो का व्यूइंग एंगल अच्छा है। हमने Motorola One Macro में PUBG Mobile को खेलकर देखा, गेम डिफॉल्ट रूप से मीडियम प्रीसेट और  ग्राफिक्स बैलेंस्ड और फ्रेम रेट मीडियम पर सेट था। इन सेटिंग्स पर गेमिंग करते समय हमें कोई समस्या नहीं हुई। 15 मिनट तक खेलने के बाद चार प्रतिशत बैटरी की खपत हुई और फोन हल्का गर्म हुआ।
 
Motorola

मोटोरोला वन मैक्रो गेम को हाई फ्रेम रेट पर भी चलाने में सक्षम है लेकिन ऐसा करने पर हमें बैक पैनल पर फोन थोड़ा गर्म लगा। Motorola One Macro में जान फूंकने के लिए 4,000 एमएएच की बैटरी दी गई है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में, स्मार्टफोन ने 17 घंटे और 30 मिनट तक साथ दिया।

इस्तेमाल के दौरान WhatsApp अकाउंट एक्टिव था, एक घंटे से अधिक समय तक नेविगेशन के लिए Google मैप्स का इस्तेमाल और PUBG Mobile को खेला, इसके बाद भी फोन ने पूरा दिन साथ दिया। हैंडसेट के साथ मिलने वाला चार्जर 30 मिनट में 28 प्रतिशत और एक घंटे में 51 प्रतिशत तक फोन को चार्ज कर देता है। डिवाइस को पूरी तरह से चार्ज होने में दो घंटे से अधिक समय लगता है।
 

Motorola One Macro कैमरा

मोटोरोला वन मैक्रो के पिछले हिस्से में ट्रिपल कैमरा सेटअप है। सबसे ऊपर 2 मेगापिक्सल का मैक्रो सेंसर है जो इस फोन की खासियत है, इसका अपर्चर एफ/2.2 है। प्राइमरी कैमरा 13 मेगापिक्सल का है। इसका अपर्चर एफ/ 2.0 है। इसके साथ 2 मेगापिक्सल का डेप्थ सेंसर है। इसमें तेज़ फोकस करने के लिए अलग लेज़र ऑटोफोकस मॉड्यूल है।

मोटोरोला वन मैक्रो में एफ/ 2.2 अपर्चर वाला 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है। कैमरा ऐप अच्छी तरह से तैयार किया गया है। व्यूफाइंडर से दाहिनी ओर स्वाइप करने पर अन्य सभी शूटिंग मोड का पता चलता है। पोर्ट्रेट, पेनोरमा, स्लो मोशन और टाइमलैप्स के अलावा कटआउट, स्पॉट कलर, सिनेमाग्राफ और मैक्रो मोड भी हैं। हमें ये मोड बहुत दिलचस्प लगे।
 
motorola
motorola

मोटोरोला वन मैक्रो के साथ ली गई तस्वीरें औसत आईं और दूरी पर स्थित ऑब्जेक्ट की तस्वीर को बड़ी स्क्रीन पर ज़ूम करने पर डिटेल की कमी लगी। दिन में फोन तेजी से फोकस कर लेता है और एचडीआर ऑटोमैटिकली ऐनेबल हो गया और इसने ब्राइट सीन सही से कैप्चर करने में मदद की। कैमरा यूआई सुझाव देता है कि यदि हम किसी सब्जेक्ट के बहुत ही करीब हैं तो हमें मैक्रो कैमरा पर स्विच करना चाहिए।

मैक्रो कैमरा केवल 2 मेगापिक्सल रिजॉल्यूशन के शॉट्स को कैप्चर करता है। गौर करने वाली बात यह है कि प्राइमरी कैमरा सेंसर से लिए गए शॉट्स की तुलना में मैक्रो शॉट्स में ज्यादा डिटेल कैप्चर हुई। मोटोरोला वन मैक्रो पोर्ट्रेट मोड में शॉट लेने से पहले ब्लर के लेवल को सेट करने का विकल्प देता है। कीमत को देखते हुए लिए डिटेल स्वीकार्य हैं।
 
motorola
motorola
motorola
motorola

लो-लाइट कैमरा परफॉर्मेंस औसत से कम थी और फोन ने हर शॉट को लेने में थोड़ा लंबा समय लिया। लैंडस्केप शॉट्स में शार्पनेस की कमी ली और ग्रेन भी नज़र आए। स्मार्टफोन ज्यादातर परिस्थितियों में नॉयस को कंट्रोल में रखता है। हैंडसेट से खींची गई सेल्फी अच्छी आईं, लो-लाइट में ली गई सेल्फी में डिटेल औसत थी।

एक बार फिर हमने पाया कि इस फोन का कैमरा परफॉर्मेंस इस प्राइस सेगमेंट में आने वाले अन्य हैंडसेट की तुलना में थोड़ा कमजोर था। प्राइमरी और सेल्फी कैमरा 1080 रिजॉल्यूशन पर वीडियो रिकॉर्डिंग करने में सक्षम है। स्मार्टफोन मैक्रो कैमरा का उपयोग करके भी वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है।
 

हमारा फैसला

मोटोरोला ने इस स्मार्टफोन को वन मैक्रो नाम इसलिए दिया है जिससे हैंडसेट में दिया मैक्रो कैमरा हाइलाइट हो सके तो आइए सबसे पहले इसी की बात करते हैं। मैक्रो कैमरा अच्छे क्लोज़-अप शॉट्स देता है। स्मार्टफोन क्लीन स्टॉक एंड्रॉयड, पावरफुल मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर, रैम और स्टोरेज के साथ आता है।

हम चाहते हैं कि वन मैक्रो भी गूगल के एंड्रॉयड वन प्रोग्राम का हिस्सा बने जिससे हैंडसेट को बेहतर सॉफ्टवेयर और सिक्योरिटी अपडेट मिलते रहने की गारंटी हो। लो-लाइट में फोन की कैमरा परफॉर्मेंस को थोड़े सुधार की जरूरत है। इसके अलावा हमें फोन से कोई भी शिकायत नहीं है। ध्यान देने वाली बात यह है कि Realme 5 भी एक अच्छा विकल्प है और यह हैंडसेट भी मैक्रो लेंस और वाइड-एंगल कैमरा सेंसर के साथ आता है। इसके अलावा Xiaomi Redmi Note 7S (रिव्यू) भी एक विकल्प है, बता दें कि शाओमी का यह हैंडसेट फुल-एचडी+ डिस्प्ले के साथ आता है।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी
  • खूबियां
  • Good battery life
  • Useful software features
  • Decent performance
  • कमियां
  • HD resolution display
  • Sub-par camera performance
डिस्प्ले6.20 इंच
प्रोसेसरमीडियाटेक हीलियो पी70
फ्रंट कैमरा8-मेगापिक्सल
रियर कैमरा13-मेगापिक्सल + 2-मेगापिक्सल + 2-मेगापिक्सल
रैम4 जीबी
स्टोरेज64 जीबी
बैटरी क्षमता4000 एमएएच
ओएसएंड्रॉ़यड
रिज़ॉल्यूशन720
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

संबंधित ख़बरें

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

 
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2019. All rights reserved.