आईवूमी आई1 (iVoomi i1) का रिव्यू

 
आईवूमी आई1 (iVoomi i1) का रिव्यू

ख़ास बातें

  • इस स्मार्टफोन में 5.45-इंच का डिस्प्ले है जो 18:9 रेशियो से लैस है
  • फोन की सीधी भिड़ंत शाओमी रेडमी 5ए और टेनॉर डी से है
  • iVoomi i1 की कीमत सिर्फ 5,999 रुपये है
iVoomi को भारत के बजट स्मार्टफोन मार्केट में उतरे अभी 1 साल से भी कम वक्त गुजरा है। पतले किनारे वाले डिस्प्ले का ट्रेंड यूजर्स को खासा पसंद आ रहा है और इसी को ध्यान में रखते हुए आईवूमी ने 18:9 रेशियो वाले नए स्मार्टफोन लॉन्च किए हैं। ग्राहकों को लुभाने और ट्रेंड को ध्यान में रखते हुए अब बजट सेगमेंट में भी कंपनियां पतले किनारे वाले डिस्प्ले दे रही हैं। हाल में ही iVoomi i1s के साथ लॉन्च हुए iVoomi i1 की कीमत सिर्फ 5,999 रुपये है। आईवूमी आई1 को टक्कर देने के लिए इसी के आसपास कीमत में InFocus Vision 3 और Micromax Canvas Infinity जैसे स्मार्टफोन बाजार में पहले से उपलब्ध हैं।

5,999 रुपये वाले आईवूमी आई1 में आपको मिलता है 18:9 डिस्प्ले, फिंगरप्रिंट स्कैनर और डुअल कैमरा। कागज़ी तौर पर आईवूमी आई1 तो प्रभावित करता है, क्या यह स्मार्टफोन परफॉर्मेंस के मामले में भी उतना ही जानदार और शानदार है? हम आपको इसी सवाल का जवाब देंगे।


iVoomi i1 डिज़ाइन

फोन हाथ में लेते ही आपकी नजर जाएगी 5.45-इंच के डिस्प्ले पर जो 18:9 रेशियो से लैस है। फोन के किनारे पतले हैं और कुल मिलाकर स्लीक डिज़ाइन देने की भरपूर कोशिश की गई है। फोन पकड़ने में आसानी हो, इस बात का ध्यान रखा गया है। आईवूमी ने इस स्मार्टफोन के पावर और वॉल्यूम बटन दायीं तरफ दिए हैं, लेकिन दोनों के बीच बेवजह की दूरी से बचा जा सकता था।
 
iVoomi

iVoomi i1 में 2 माइक्रो सिम स्लॉट और एक अलग से माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट दिया गया है, जिसके लिए आपको बैक कवर हटाना होगा। कवर इतना सुविधाजनक नहीं है कि आप उसे आसानी से लगा और निकाल सकें। बैक कवर हटाकर आप इसकी 3000 एमएएच वाली बैटरी देख तो पाएंगे लेकिन इसे निकालने का विकल्प नहीं दिया गया है। फोन में 3.5 एमएम जैक है और ऊपर की तरफ माइक्रो-यूएसबी पोर्ट भी दिया गया है। फोन के माइक और स्पीकर नीचे हैं। निचले हिस्से पर नज़र आ रहे दो स्पीकर में से एक ही काम करता है। दूसरा स्पीकर दिखावा मात्र है।

जैसा कि हमने पहले बताया, आईवूमी आई1 में एलईडी फ्लैश के साथ डुअल कैमरा दिया गया है और इसके नीचे फिंगरप्रिंट स्कैनर भी लगा है। कैमरा थोड़ा बाहर की तरफ निकला हुआ है, जिसकी वजह से आप जब समतल जगह पर फोन को रखते हैं तो वह थोड़ा उठा हुआ रहता है। कैमरे को किनारे से मेटल कवर दिया गया है, जो अचानक फोन गिरने जैसी स्थिति में लेंस को सुरक्षित रखता है। फोन के लुक की बात करें तो ये प्लास्टिक बॉडी जैसा महसूस होता है, जिससे हम ये नहीं कह सकते कि हमें सस्ते में कोई अनूठा स्मार्टफोन मिल रहा है।
 

आईवूमी आई1 सॉफ्टवेयर और स्पेसिफिकेशन

5.45 इंच की स्क्रीन में आपको मिलता है 640x1280 पिक्सल का रिजॉल्यूशन, जो कि काफी कम है और स्क्रीन में उतना क्रिस्प नहीं है, जितना हम उम्मीद कर रहे थे। आपको ये भी बता दें कि इस रेंज के अन्य स्मार्टफोनआईवूमी आई1 से बेहतर रिजॉल्यूशन में आ रहे हैं। इसमें मीडियाटेक प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है, जो कम कीमत वाले ज्यादातर स्मार्टफोन में आपको मिल जाएगा। क्वाड-कोर प्रोसेसर की सर्वाधिक क्लॉक स्पीड 1.3 गीगाहर्ट्ज़ है। जुगलबंदी के लिए मौज़ूद है 2 जीबी रैम। स्टोरेज 16 जीबी है और ज़रूरत पड़ने पर आप 128 जीबी तक का माइक्रोएसडी कार्ड इस्तेमाल कर सकेंगे।

आईवूमी आई1 के पिछले हिस्से पर दो कैमरे हैं। एक सेंसर 13 मेगापिक्सल का है और दूसरा 2 मेगापिक्सल का। सेल्फी के दीवानों के लिए फ्रंट में 8 मेगापिक्सल का कैमरा है। कनेक्टिविटी की बात करें तो यह स्मार्टफोन 4जी और वीओएलटीई को सपोर्ट करता है। इसके अलावा सिंगल-बैंड वाई-फाई, ब्लूटूथ और एफएम रेडियो का भी इस्तेमाल आप इस फोन में कर पाएंगे।
 
iVoomi

ज्यादा बदलाव ना करते हुए कंपनी ने इसे एंड्रॉयड नूगा पर ही रखा है। आईवूमी ने सेटिंग्स ऐप में कुछ रंगीन आइकंस जोड़े हैं, जिससे फोन को एक अलग लुक मिलता है। प्रोसेसिंग धीमी न पड़े, इसके लिए ड्यूरा स्पीड सॉफ्टवेयर से फोन को जोड़ा गया है। फोन में दिए गए गेस्चर कंट्रोल फीचर के सहारे आप हाथ हिलाकर ऐप के अंदर गाने या रेडियो चैनल बदल पाएंगे।

इसके अलावा कॉल आने पर जैसे ही आप फोन को कान तक ले जाएंगे, फोन अपने आप उठ जाएगा, साथ ही दाएं-बाएं करते ही कॉल म्यूट भी हो जाएगी। साथ ही 2-फिंगर जेस्चर फीचर से आप वॉलपेपर भी बदल पाएंगे, हालांकि हमारे हिसाब से ये फीचर्स यूजर के उतने काम के नहीं हैं, यहां बात है आपकी पसंद और प्राथमिकता की।

स्मार्टफोन में आपको क्विक टच का एक विकल्प दिया गया है, जिसे आप ऐप या सेटिंग्स में शॉर्टकट के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। स्क्रीन पर दिख रहे आइकंस का स्थान भी आप बदल सकते हैं। खाली वक्त में आपको व्यस्त रखने के लिए आईवूमी ने Temple Paradise Dash और Cupcake Dreamland जैसे गेम दिए हैं। इसके अलावा स्मार्टफोन में यूसी ब्राउजर, जेंडर, फ्लिपकार्ट, गूगल ड्युओ और आईवूमी केयर सेंटर जैसे ऐप आपको पहले से इंस्टाल मिलेंगे।      
 

आईवूमी आई1 की परफॉर्मेंस, कैमरा और बैटरी

भले ही आईवूमी आई1 में ठीक-ठाक हार्डवेयर का इस्तेमाल हुआ हो, लेकिन फोन की परफॉर्मेंस उतनी अच्छी नहीं है। हमने पाया कि सामान्य उपयोग में ही फोन का प्रदर्शन लड़खड़ा जाता है, हालांकि ये इतना ज्यादा तकलीफदेह भी नहीं है। भारी-भरकम ऐप और गेम चलाने से फोन थम जाता है। इतना ही नहीं, शैडो फाइट 3 जैसे तेज रफ्तार वाले गेम के लायक यह फोन बिल्कुल नहीं है। लैंडस्केप मोड में फोन का इस्तेमाल करने पर लाउडस्पीकर छिप जाता है, जिस कमी को दूर किया जा सकता था।
 
iVoomi

डिस्प्ले के व्यूइंग एंगल औसत स्तर के हैं। हमने पाया कि फोन में ज़्यादातर गेम और ऐप डिफॉल्ट तौर पर फुलस्क्रीन मोड में ही चले। जिन ऐप को 18:9 आस्पेक्ट रेशियो के लिए अपडेट कर दिया गया है, उनमें दिक्कत नहीं हुई। लेकिन कुछ ऐप के किनारों पर काले रंग की पट्टी साफ नज़र आ रही थी। फिंगरप्रिंट स्कैनर काफी हद तक सटीक है लेकिन फिंगरप्रिंट की पहचान होने और फोन को अनलॉक करने के दौरान थोड़ा वक्त लगता है।

बैटरी की बात करें तो हल्के-फुल्के इस्तेमाल के साथ फोन की बैटरी दिनभर चल जाती है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में बैटरी ने 8 घंटे 12 मिनट में दम तोड़ दिया। फोन के साथ आने वाला 5 वॉट का चार्जर भी बहुत दमदार नहीं है। फोन की बैटरी को पूरी तरह से चार्ज करने में हमें करीब 3 घंटे लगे।

कैमरे पर लौटें तो आईवूमी ने कुछ खास कमाल नहीं किया है। पनोरमा, वीडियो, फोटो और बोकेह जैसे मोड दिए गए हैं। कैमरा ऐप के अंदर एक मोड से दूसरे मोड में जाने की रफ्तार बेहद धीमी है। ऑटो सीन डिटेक्शन भी इस स्मार्टफोन में है लेकिन इस्तेमाल करने के लिहाज से काफी धीमा है। आईवूमी आई1 के प्राइमरी कैमरे से ली गई तस्वीरें औसत से भी नीचे स्तर की हैं। फोकस करने में कैमरा वक्त लेता है। लैंडस्केप तस्वीरों की गुणवत्ता भी इतनी अच्छी नहीं है कि इसे कहीं इस्तेमाल किया जा सके। लैंडस्केप मोड की तुलना में मैक्रोज़ शॉट ज्यादा बेहतर क्वॉलिटी के हैं।  
 
i1
i1
i1

कम रोशनी में कैमरा जवाब दे जाता है और तस्वीरें धुंधली हो जाती हैं। कैमरे का बोकेह मोड भी कोई खास नहीं है, यह बैकग्राउंड को धुंधले करने में पूरी तरह से सक्षम नज़र नहीं आता। इसके अलावा एचडीआर मोड भी स्लो है और ज़रा सा हाथ हिलने पर तस्वीर बिगड़ जाती है। अगर आप ठीक-ठाक रोशनी में सेल्फी ले रहे हैं, तब कैमरे की गुणवत्ता बेहतर है। फोन का प्राइमरी कैमरा जहां 720 पिक्सल तक के विडियो को सपोर्ट करता है, वहीं फ्रंट कैमरा सिर्फ 480 पिक्सल तक की ही फुटेज को सपोर्ट करने में सक्षम है। हालांकि, कैमरे में इमेज स्टैबलाइजर भी दिया गया है, लेकिन यह इतना प्रभावी नहीं है कि वीडियो की गुणवत्ता को बनाए रख सके।
 

फैसला

आईवूमी का यह नया 18:9 स्क्रीन वाला स्मार्टफोन अपनी रेंज में एक बेहतरीन स्मार्टफोन नहीं कहा जा सकता। बैटरी लाइफ ठीक-ठाक है। डिस्प्ले के कारण फोन को अलग पहचान मिलती है। लेकिन परफॉर्मेंस उतनी अच्छी नहीं है। कमज़ोर कैमरा और धीमा फिंगरप्रिंट सेंसर इसकी दो बड़ी खामियां हैं। अगर आपको 18:9 आस्पेक्ट रेशियो नहीं चाहिए, तो आपके लिए Xiaomi Redmi 5A (रिव्यू) या टेनॉर डी (रिव्यू) अच्छे विकल्प हो सकते हैं, जिनमें आपको आईवूमी आई1 से बेहतर हार्डवेयर मिलेगा। अगर आपको इसी बजट में पतले किनारे वाले डिस्प्ले से लैस फोन ही चाहिए, तो हम आपको इंतज़ार करने की सलाह देंगे।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.45 इंच

प्रोसेसर

1.3 गीगाहर्ट्ज़ क्वाड-कोर

फ्रंट कैमरा

8-मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

640x1280 पिक्सल

रैम

2 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 7.0

स्टोरेज

16 जीबी

रियर कैमरा

13-मेगापिक्सल

बैटरी क्षमता

3000 एमएएच
आपकी राय
 
RealMe 1
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।