5 काम जो एंड्रॉयड फोन कर सकता है, iPhone नहीं

 
5 काम जो एंड्रॉयड फोन कर सकता है, iPhone नहीं

ख़ास बातें

  • ऐप्पल आईफोन में नहीं हैं ये फीचर, मिलेंगे सिर्फ एंड्रॉयड स्मार्टफोन में
  • कुछ फीचर हैं कॉमन लेकिन कुछ फीचर सिर्फ मिलेंगे एंड्रॉयड में भी
  • हम 5 प्रमुख फीचर के बारे में बता रहे हैं जो नहीं मिलेंगे एक-दूसरे में
iOS और Android की डिबेट में दोनों के समर्थकों और प्रशंसकों की अपनी-अपनी राय है। दोनों के लिए ही बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम होने का दावा किया जाता रहा है। ऐप्पल के आईफोन और एंड्रॉयड स्मार्टफोन के कई ऐसे फीचर हैं, जो एक-दूसरे में पाए जाते हैं। वहीं, दोनों में कुछ ऐसे फीचर हैं जो या तो एंड्रॉयड में आपको मिलेंगे या फिर आईओएस में।

आज बात उन फीचर की, जो एंड्रॉयड स्मार्टफोन में मिल जाएंगे, लेकिन अब तक इनका इनका इस्तेमाल ऐप्पल आईफोन में संभव नहीं है:
 

Split-screen

स्प्लिट स्क्रीन ऐसा फीचर है, जिसमें यूज़र को दो ऐप एक साथ विभाजित स्क्रीन में इस्तेमाल करने का मौका मिल जाता है। यह फीचर एंड्रॉयड 7.0 नूगा व उससे ऊपर के वर्ज़न वाले ज्यादातर स्मार्टफोन में दस्तक दे चुका है। वहीं, ऐप्पल ने आईओएस11 के साथ भी यह फीचर सिर्फ आईपैड में दिया है। यह आईफोन से अब भी नदारद है।  
 
split screen
 

Smart Text selection

स्मार्ट टेक्स्ट सिलेक्शन दूसरा ऐसा फीचर है, जो एंड्रॉयड स्मार्टफोन में दस्तक दे चुका है। लेकिन आईफोन में इसकी कमी खलती है। इस फीचर के ज़रिए डिटेल में दिए गए टेक्स्ट में से ई-मेल, पता, फोन नंबर अपने आप सिलेक्ट हो जाता है। ऐसे में यूज़र को आसानी होती है। इस पर लंबा टैप कर आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। यह फीचर आईफोन यूज़र की पहुंच से दूर है।
 
smarttext
 

Record phone calls

कुछ कस्टमाइज्ड यूआई से लैस एंड्रॉयड स्मार्टफोन में तो डायलपैड में ही कॉल रिकॉर्ड का विकल्प आने लगा है। वहीं, स्टॉक एंड्रॉयड यूजर को थर्ड पार्टी के सहारे यह सेवा मिल जाती है। आईफोन यूज़र की पहुंच से यह फीचर दूर है। एंड्रॉयड स्मार्टफोन के यूज़र की इस फीचर का आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।
 
Smartphone
 

Choose default apps

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम यूज़र को डिफॉल्ट ऐप चुनने का विकल्प देता है। उदाहरण के लिए अगर आप चाहते हैं कि क्रोम के बजाय आपके लिंक ओपरा में खुलें, तो आप इसे सेट कर सकते हैं। आप एंड्रॉयड फोन यूजर हैं तो आसानी से ऐप सेटिंग में जाकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
 
opo
 

Set data limit alerts

किसी भी एंड्रॉयड स्मार्टफोन में यूज़र के पास अपने फोन के डेटा को नियंत्रित करने का विकल्प होता है। आप डेटा सेविंग मोड को ऑन कर सकते हैं। डेटा की खपत के मामले में यह विकल्प कारगर साबित हो सकता है। आईफोन यूज़र के पास ऐसा कोई विकल्प नहीं होता। आज के दौर में डेटा की बचत बेहद ज़रूरी हो गई है, ऐसे में एंड्रॉयड स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले इस फीचर का लाभ बखूबी उठा सकते हैं।
 
smartphone
आपकी राय

संबंधित ख़बरें

 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।