SBI की बड़ी चूक के कारण खाताधारकों का डेटा खतरे में: रिपोर्ट

अगर आपका भी खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है तो यह खबर खास आपके लिए है। जानें क्या है मामला।

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
SBI की बड़ी चूक के कारण खाताधारकों का डेटा खतरे में: रिपोर्ट

SBI की बड़ी चूक के कारण खाताधारकों का डेटा खतरे में: रिपोर्ट

ख़ास बातें
  • State Bank of India से जुड़े हैं 42 करोड़ से अधिक लोग
  • SBI सर्वर को अब सिक्योर कर लिया गया है
  • सर्वर पर था SBI Quick का अहम डेटा
अगर आपका भी खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है तो यह खबर खास आपके लिए है। बुधवार यानी 30 जनवरी को सामने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, State Bank of India से एक बहुत बड़ी चूक हुई है। एसबीआई (SBI) अपने सर्वर को सुरक्षित करना भूल गया था, इसी वजह है कि लाखों खाताधारकों की जानकारी सार्वजनिक होने का खतरा उत्पन्न हो गया था। हालांकि, इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद सर्वर को सिक्योर कर लिया गया है, लेकिन देश के सबसे बड़े बैंक State Bank of India की इस चूक से कई सवाल खड़े होते हैं।   

वेबसाइट TechCrunch की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के मुंबई डेटा सेंटर का सर्वर बिना पासवर्ड के चल रहा था। इसमें एसीआई क्विक के दो महीने का डेटा भी शामिल था। आप लोगों के जानकारी के लिए बता दें कि SBI Quick एक मिस कॉल बैंकिंग सर्विस है। इस सर्विस की मदद से खाताधारक बैलेंस, मिनी स्टेटमेंट, रिक्वेस्ट चेक बुक और अन्य जानकारी प्राप्त करते हैं।

TechCrunch ने बताया कि इस बात की जानकारी एक सिक्योरिटी रिसर्चर ने दी थी। रिसर्चर ने बताया कि SBI सर्वर पर पासवर्ड नहीं लगा था। ऐसे में कोई भी लाखों खाताधारकों के बैंकिंग डेटा जैसे कि मोबाइल नंबर, पार्शल अकाउंट नंबर, अकाउंट बैलेंस और हाल ही में की गई ट्रांजेक्शन को आसानी से एक्सेस कर सकता था।

रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है कि SBI Quick सर्विस से जुड़े सर्वर से रियल टाइम में जो मैसेज खाताधारकों को भेजे जा रहे थे उन्हें कोई भी एक्सेस किया जा सकता था। TechCrunch की रिपोर्ट में कहा गया कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की तरफ से सोमवार यानी 28 जनवरी को तकरीबन 30 लाख मैसेज खाताधारकों को भेजे गए थे। इस बात की जानकारी फिलहाल सामने नहीं आई है कि आखिर सर्वर कितने समय से पासवर्ड प्रोटक्ट नहीं था। हमनें इस विषय में SBI से संपर्क किया, लेकिन खबर लिख जाने तक बैंक की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं मिली है।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

 
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2019. All rights reserved.