Friedlieb Ferdinand Runge's 225th Birthday Google Doodle: फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज से जुड़ी कुछ खास बातें

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
Friedlieb Ferdinand Runge's 225th Birthday Google Doodle: फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज से जुड़ी कुछ खास बातें

Friedlieb Ferdinand Runge's 225th Birthday Google Doodle: फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज से जुड़े कुछ अहम पहलू

ख़ास बातें
  • Friedlieb Ferdinand Runge ने बर्लिन यूनिवर्सिटी से की डॉक्टरेट की पढ़ाई
  • फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज से कुछ अहम पहलू जानें
  • Friedlieb Ferdinand Runge ने की थी कैफीन की खोज
फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज (Friedlieb Ferdinand Runge) के 225वें जन्मदिवस के इस खास मौके पर Google ने उन्हें याद करते हुए गूगल डूडल (Google Doodle) बनाया है। आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज (Friedlieb Ferdinand Runge) ने कैफीन की खोज की थी। इस खोज के बाद फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज विश्वभर में मशहूर हो गए थे। आइए आपको फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज (Friedlieb Ferdinand Runge) के जीवनकाल के बारे में जानकारी देते हैं।

फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज का जन्म 8 फरवरी सन् 1794 में हैम्बर्ग में हुआ था। आप शायद इस बात से वाकिफ नहीं होंगे लेकिन कैफीन के अलावा Friedlieb Ferdinand Runge's ने कोलतार डाई की भी खोज की थी। उन्होंने बर्लिन यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट की शिक्षा प्राप्त की और फिर सन् 1831 तक फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज ने ब्रेसलो यूनिवर्सिटी में पढ़ाया था।
 

फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज (Friedlieb Ferdinand Runge's) से जुड़ी कुछ खास बातें

1) बचपन से ही फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज को कैमिस्ट्री में काफी रुचि थी। किशोरवस्था में उन्होंने कई शोध भी किए। एक बार बेल्डोना के पौधे पर शोध करते हुए अचानक उनके आंखों में पौधे का रस गिर गया। इसके बाद उन्हें पता चला कि बेल्डोना के पौधे के रस से आंख की पुतलियां फैलने और सिकुड़ने लगती हैं।

2) फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज ने कॉफी की पहचान आखिर कैसे की आइए अब आपको यह बताते हैं। जेना यूनिवर्सिटी में कैमिस्ट जोहान वोल्फगैंग के अंडर शिक्षा प्राप्त करते वक्त Friedlieb Ferdinand Runge को एक बार फिर बेल्डोना पर शोध करने के लिए कहा गया था। केवल इतना ही नहीं, फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज को कॉफी का विश्लेषण करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। यही वजह थी कि कुछ महीनों के शोध के बाद उन्होंने कैफीन की खोज की थी।

3) फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज ने अपने जीवनकाल के दौरान चुकंदर के रस से चीनी निकालने की विधि भी तैयार की थी।

4) कैफीन और कोलतार डाई के अलावा फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज ऐसे पहले वैज्ञानिकों में से एक थे जिन्हें कुनैन का आविष्कारक भी माना जाता है।

5) Friedlieb Ferdinand Runge ने 25 मार्च सन् 1867 में जर्मनी के ऑरेनियनबर्ग में अपनी अंतिम सांस ली और दुनिया को अलविदा कह गए।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

 
 

ADVERTISEMENT