Google ने डूडल बनाकर किया Bartolomé Esteban Murillo को याद, जानें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
Google ने डूडल बनाकर किया Bartolomé Esteban Murillo को याद, जानें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें

Bartolomé Esteban Murillo Google Doodle celebrating 400 years of Murillo

ख़ास बातें

  • Google Doodle में दर्शाई गई 'टू विमेन एट अ विंडो' पेटिंग
  • सन् 1645 तक विश्वभर में मशहूर हो गए थे Bartolomé Esteban Murillo
  • बचपन में मेले में जाकर बेच दिया करते थे पेटिंग
Bartolomé Esteban Murillo Google Doodle मशहूर स्पेनिश चित्रकार Bartolomé Esteban Murillo की 400वीं जयंती के मौके पर बनाया गया है। बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो ने कई पेटिंग बनाई थीं लेकिन गूगल ने उनकी मशहूर पेटिंग को गूगल डूडल में दर्शाया है। बता दें कि Celebrating 400 Years of Murillo Google Doodle में जिस Bartolomé Esteban Murillo पेटिंग को दर्शाया गया है उसका नाम है ‘टू विमेन एट अ विंडो' (Two women at a window)। आइए अब बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो के बारे में विस्तार से जानते हैं।

स्पेन के सविले शहर में Bartolomé Esteban Murillo का जन्म दिसंबर 1617 में हुआ था। गूगल डूडल में दिखाई गई पेटिंग को बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो ने करीब 1655 में बनाया था। पेटिंग में एक लड़की खिड़की के सामने तो वहीं दूसरी महिला मुंह छिपाते हुए बाहर की तरफ देखती नजर आ रही है। Bartolomé Esteban Murillo द्वारा कई ऐसी पेटिंग बनाई गई थी जिन्हें आज भी याद किया जाता है। Celebrating 400 Years of Murillo Google Doodle में दर्शाई गई पेटिंग को नेशनल गैलरी ऑफ आर्ट (वाशिंगटन) के संग्रह में रखा गया है।

'द होली फैमिली विद डॉग' और 'द अडोरेशन ऑफ द शेफर्ड्स' Bartolomé Esteban Murillo की मशहूर पेटिंग्स में शामिल हैं। बता दें कि बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो की इन दोनों पेटिंग्स को म्यूसियो डेल प्राडो में रखा गया है। द म्यूजियम ऑफ केडीज में चित्रकार को समर्पित एक रूम भी है जिसका नाम है ‘The Murillo Room'।
 

बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो के बारे में कुछ खास बातें

Bartolomé Esteban Murillo ने अपने अंकल से पेटिंग की कला को सीखा था। वह पहले मुख्य रूप से धार्मिक विषयों पर पेटिंग बनाया करते थे, बचपन में जो भी पेटिंग वह बनाते उसे मेले में जाकर बेच दिया करते थे। उनके द्वारा बनाई गई पेटिंग को लोग काफी पसंद करते थे। मेले में पेटिंग बेचने का काम उन्होंने जवानी तक किया था। बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो को देख अन्य पेंटर भी मेले में आकर पेटिंग बेचने लगे थे।

धार्मिक विषयों के बाद उन्होंने रोजमर्रा के जीवन पर पेटिंग बनानी शुरू की थी। Bartolomé Esteban Murillo स्पेन के एक प्रांत एंडालुसियन के जीवन को पेटिंग के जरिए दर्शाने लगे थे। उनकी पेटिंग को लोगों द्वारा काफी सराहा गया था। सन् 1645 तक वह विश्वभर में मशहूर हो गए थे, लेकिन एक दौरा ऐसा भी आया जब एक राजा ने उनके शिल्पकृति पर रोक लगा दी थी। शायद आप इस बात से वाकिफ नहीं होंगे लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Bartolomé Esteban Murillo की अधिकतर पेटिंग्स सेंट पीटर्सबर्ग के म्यूजियम में रखी हुई हैं। सन् 1682 में बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो ने अपनी अंतिम सांस ली थी।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

 
 

ADVERTISEMENT