Google Feed अंग्रेजी के साथ हिंदी में भी, Google Go यूज़र सुन पाएंगे वेबपेज को

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
Google Feed अंग्रेजी के साथ हिंदी में भी, Google Go यूज़र सुन पाएंगे वेबपेज को

ख़ास बातें

  • Google ने दो नए फीचर पेश किए- बाइलिंगुअल न्यूज फीड और ऑडियो प्लेबैक
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से Google Go यूज़र वेबपेज को सुन पाएंगे
  • सर्च फीड में अब आपकी पसंद के न्यूज़ अंग्रेजी और हिंदी में दिखेंगे
मंगलवार को आयोजित हुए 'गूगल फॉर इंडिया' इवेंट में दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी गूगल ने कई ऐसे फीचर के बारे में जानकारी दी जिन्हें खास भारतीय यूज़र के लिए तैयार किया गया है। कंपनी ने प्रोजेक्ट गूगल नवलेखा का ऐलान किया। तेज़ का नाम बदलकर Google Pay कर दिया गया। इसके अलावा गूगल गो और एंड्रॉयड (गो एडिशन) के लिए भी कई फीचर का ऐलान किया गया। इनमें से सबसे अहम ऐलान गूगल गो यूज़र के लिए था। अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से Google Go यूज़र वेबपेज को सुन पाएंगे। इस बीच Google ने यह भी जानकारी दी कि Samsung जल्द ही भारतीय मार्केट में अपने पहले एंड्रॉयड गो स्मार्टफोन को लॉन्च करेगी जिससे बीते हफ्ते ही पर्दा उठाया गया था।

Google ने दो नए फीचर पेश किए- बाइलिंगुअल न्यूज फीड और ऑडियो प्लेबैक। Google ने ऐलान किया है कि गूगल फीड अब अंग्रेजी के साथ हिंदी में भी आएगा। यह जल्द ही Google Go प्लेटफॉर्म पर भी आएगा। गूगल इंडिया और साउथ ईस्ट एशिया के वाइस प्रेसिडेंट राजन आनंदन ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा, "सर्च फीड में अब आपकी पसंद के न्यूज़ अंग्रेजी और हिंदी में दिखेंगे। ऐसा एआई लर्निग से संभव होगा जो जान लेगा कि आपको किस तरह की खबरें पसंद हैं।" याद रहे कि गूगल ने बीते साल जुलाई में मोबाइल फोन पर अपने सर्च ऐप को पूरी तरह से बदलने की जानकारी दी थी। ऐसा अमेरिका के लिए किया गया था। नए फीचर को 'Google Feed' का नाम मिला था। कंपनी ने कहा था कि इसे आने वाले हफ्तों में दूसरे देशों में उपलब्ध कराया जाएगा।

दूसरी तरफ, ऑडियो प्लेबैक भी नया फीचर है जो गूगल गो पर आने वाला है। इसकी मदद से यूज़र वेबपेज को सुन पाएंगे। गूगल का कहना है कि नया फीचर नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग और स्पीच सिनथेसिस एआई की मदद से काम करता है। यह 28 भाषाओं के सपोर्ट के साथ आता है। हिंदी, बंगाली, मलयालम, मराठी और तमिल जैसी भाषाओं के लिए सपोर्ट है। यह 2जी नेटवर्क पर भी काम करेगा। इसके अतिरिक्त Google ने बताया कि एआई यह तय करेगा कि वेबपेज के किस हिस्से को पढ़ा जाए और किसे नहीं।

Google ने यह भी बताया कि Micromax, Lava, Nokia और Transsion जैसे भारतीय ब्रांड एंड्रॉयड (गो एडिशन) स्मार्टफोन बना रहे हैं। जिनकी कीमत ऐसी होगी कि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचा जा सके।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT