बाबा रामदेव के Kimbho मैसेजिंग ऐप का लॉन्च टला

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
बाबा रामदेव के Kimbho मैसेजिंग ऐप का लॉन्च टला

ख़ास बातें

  • Kimbho ऐप के ट्रायल, रिव्यू और अपग्रेडेशन पर चल रहा काम
  • 15 अगस्त को आया था किंभो ऐप का ट्रायल वर्जन
  • Kimbho ऐप के ट्रायल वर्जन में भी यूजर को आई समस्या
योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने Facebook के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेंजिग ऐप WhatsApp से मुकाबले के लिए सोमवार को Kimbho ऐप को लॉन्च करना था। लेकिन एक बार फिर किंभो ऐप का लॉन्च टल गया। पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निर्देशक आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि इंस्टेंट मैसेजिंग Kimbho App के लॉन्च की नई तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी। आचार्य बालकृष्ण ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा कि किंभो ऐप को सुरक्षित, सरल और सिक्योर बनाने के लिए ट्रायल, रिव्यू और अपग्रेडेशन पर काम चल रहा है।

इस महीने के शुरुआत में 27 अगस्त को किंभो ऐप को लॉन्च करने का ऐलान किया गया था। किंभो ऐप को पहले मई में लॉन्च किया गया था, लेकिन यह ऐप विवादों में घिर गया। जिसके बाद ऐप को गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया गया था। कई जानकारों ने Kimbho App को बेहद ही असुरक्षित करार दिया था। एलियट एंडरसन नाम के एक फ्रेंच सिक्योरिटी रिसर्चर ने तो इस ऐप को सिक्योरिटी के नाम पर मज़ाक बताया था। 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस 2018 के मौके पर पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड का इस्टेंट मैसेजिंग ऐप Kimbho का ट्रायल वर्जन एक बार फिर प्ले स्टोर पर देखा गया था।

ऐप को डाउनलोड करने के बाद एक बार फिर यूजर्स को किंभो ऐप में कई तकनीकी समस्याओं का सामना करना पड़ा। यूजर को प्रोफाइल पिक्चर और यूजर इंटरफेस संबंधित शिकायत आईं। एक बार फिर यूजर्स से शिकायत मिलने के बाद किंभो ऐप को Google Play Store से हटा दिया गया। सोमवार तक Kimbho ऐप के ट्रायल वर्जन को 50,000 बार डाउनलोड किया गया था।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

गैजेट्स 360 स्टाफ मैं भी गैजेट्स 360 के लिए ही काम करता/करती हूं, लेकिन नाम नहीं ... और भी »
पढ़ें: English বাংলা
 
 

ADVERTISEMENT

 
गैजेट्स 360 स्टाफ को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी