हिंदी समझने वाली Google Assistant आपके इस काम की...

Share on Facebook Tweet Share Reddit आपकी राय
हिंदी समझने वाली Google Assistant आपके इस काम की...

ख़ास बातें

  • गूगल असिस्टेंट अब समझती है हिंदी भी, आपने ट्राइ किया?
  • रोज़मर्रा की चीज़ों से लेकर हंसी-मज़ाक तक के लिए कर सकते हैं इस्तेमाल
  • आपात स्थिति में फ्लैश, कॉल से लेकर अलार्म, मैसेज करने तक की सुविधा
दिग्गज टेक कंपनी Google के असिस्टेंट के बारे में आपने ज़रूर सुना होगा। या कभी अपने एंड्रॉयड फोन में देखा व इस्तेमाल किया होगा। अब Google Assistant को हिंदी भाषा समझने के लिए सक्षम बना दिया है। अब एंड्रॉयड यूज़र इस नए फीचर का अनुभव ले सकते हैं। दरअसल, यह एक वर्चुअल असिस्टेंट जो आपके लिए काम को आसान बनाने का काम करती है। यह असिस्टेंट आपके रोज़मर्रा के कामों में सहायता कर सकती है। कैलेंडर, जीमेल, सर्च, फोटो, मैप और ऐसे कई ऐप को यह आपके बोलने भर से मैनेज करना शुरू कर देगी। यह किसी ऐसे वास्तविक सहायक की तरह है, जो आपके सवालों के जवाब देगी। हंसी-मज़ाक से लेकर सुबह के अलार्म लगाने जैसी ज़रूरी चीज़ें भी यह आपके लिए कर पाएगी।

आज हम आपको बताएंगे, Google Assistant के ज़रिए किन कामों को आसानी से किया जा सकता है। कैसे अपने स्मार्टफोन की गूगल असिस्टेंट से आप अपनी मर्ज़ी के मुताबिक काम ले पाएंगे। वो भी अपनी भाषा में। Google Assistant के कुछ फीचर ऐसे भी हैं, जिनका इस्तेमाल आप व्यस्त होने पर, इमरजेंसी में कर पाएंगे...
 

अप टू डेट

Google Assistant से यूज़र रोज़मर्रा के ज़रूरी कामों को करवा सकते हैं। क्रिकेट मैच स्कोर, इतिहास के प्रश्न, मौसम की जानकारी, आस-पास की खबरें, देश-दुनिया के 'हाल-चाल' आप Google Assistant से पूछ पाएंगे। 'ओके गूगल' कहने के बाद आप अपनी भाषा में गूगल असिस्टेंट से अपनी बात कहें और जवाब का इतंज़ार करें। साथ ही आपके इलाके का ट्रैफिक कैसा है, किसी अन्य इलाके का ट्रैफिक कैसा है। किसी और देश में इस वक्त क्या समय हो रहा है, देश-दुनिया की राजनीति, खेल और अन्य क्षेत्रों में आज क्या खास हुआ जैसे सवाल आप Google Assistant से कर सकते हैं। 
 

पर्सनल असिस्टेंट

किसी भी निजी सहायक की ज़िम्मेदारी आपको हर छोटे-छोटे कामों के बारे में याद दिलाने और मदद करने की होती है। Google Assistant भी आपके लिए यही भूमिका निभाएगी। आप होम बटन को देर तक प्रेस करें। 'ओके गूगल' कहें और कहें, 'कल सुबह 7 बजे का अलार्म लगा दो', 'नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से ग्रेटर नोएडा जाने का रास्ता बताओ', 'बॉस को कॉल लगाओ', 'फ्लैश ऑन करो'। आपकी गूगल असिस्टेंट आपके लिए ये सारे काम करेगी। यानी, इमरजेंसी में यदि आपके दोनों हाथ में कोई सामान है और आपको घर का लॉक खोलना है तो यह आपके लिए फ्लैश ऑन कर देगी। किसी असामान्य स्थिति में आप इसके ज़रिए अपने परिजनों को कॉल करने के लिए भी बोल सकते हैं।
 

मौज-मस्ती

आप गूगल असिस्टेंट से खाली समय में हंसी-मज़ाक और मनोरंजन भी कर सकते हैं। 'तुम कैसी हो, तुम्हें किसने बनाया, तुम मुझे हंस के दिखाओ, मुझे जोक सुनाओ' जैसे सवालों से आप गूगल असिस्टेंट के साथ मज़े भी ले सकते हैं। हालांकि, संभव है आपके ज्यादातर सवालों के जवाब यह असिस्टेंट कुछ अलग ही दे। आप कह सकते हैं मुझे घोड़े की आवाज़ निकालकर दिखाओ, कुत्ते की तरह भौंककर दिखाओ। इस तरह खाली वक्त में इसे मनोरंजन के साधन के तौर पर भी आज़माया जा सकता है।

Google Assistant आपकी मदद सफर के दौरान भी करेगी। आप पूछ सकते हैं, आगे का रास्ता, अच्छा रेस्त्रां, घूमने-फिरने की जगह, आस-पास के सिनेमाघर, होटल से बीच तक का रास्ता, आस-पास मौज़ूद मोबाइल फोन की दुकान जैसी चीज़ें भी आप Google Assistant से पूछ सकते हैं। इतना ही नहीं, आप Google Assistant से वाई-फाई चलाने, एयरप्लेन मोड ऑन करने, मैसेज करने के लिए भी कह सकते हैं। साथ ही Google Assistant आपके कहने पर कैमरा खोल पाएगी, फोटो गैलरी तक ले जा पाएगी, कार पार्किंग की सटीक जगह बता पाएगी, संगीत बजा पाएगी।

यहां हम आपको एक बात और बताना चाहेंगे। गूगल असिस्टेंट में हिंदी भाषा समझने का फीचर अभी नया-नया है तो संभव है कि यह आपकी कही और पूछी गई हर बात का सटीक व मनमुताबिक जवाब ना दे पाए। हम जल्द ही इसके 'यूज़र एक्सपीरिएंस' के साथ लौटेंगे, जिसमें हम आपको इसकी खूबियों और कमियों के बारे में विस्तार से बताएंगे।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।

 
 

ADVERTISEMENT